UPSSSC AGTA Syllabus In Hindi : UPSSSC कृषि तकनीकी सहायक भर्ती पाठ्यक्रम 2024 जानिए

 UPSSSC AGTA Syllabus In Hindi : उत्तरप्रदेश अधीनस्थ चयन सेवा आयोग ने यूपीएसएसएससी कृषि तकनीकी सहायक भर्ती के परीक्षा आयोजन करने जा रही है जिसके लिए उत्तरप्रदेश अधीनस्थ चयन सेवा आयोग ने यूपीएसएसएससी कृषि तकनीकी सहायक पाठयक्रम लागू की है | जिसको इस लेख में विस्तार से चर्चा की गई है | जो भी आवेदक यूपीएसएससी कृषि तकनीकी सहायक भर्ती में भाग लेना चाहता है वो नीचे दिए कृषि तकनीकी सहायक भर्ती पाठ्यक्रम और पैटर्न को देखकर अपनी तैयारी शुरू कर सकते है आइए जनते है : 

UPSSSC AGTA Syllabus In Hindi
 

यूपीएसएसएससी कृषि तकनीकी सहायक परीक्षा पैटर्न 2024 

जो भी आवेदक यूपीएसएसएससी कृषि तकनीकी सहायक भर्ती परिक्छके लिए तैयारी करने की विचार कर रहे है उन्हें कृषि तकनीकी सहायक भर्ती परीक्षा पैटर्न को जानना बहुत ही आवश्यक है आइए जानते है : 
  1. कृषि तकनीकी सहायक परीक्षा में 2024 में वस्तुनिष्ठ प्रश्न होंगे 
  2. परीक्षा कुल 100 अंको में आयोजित किया जाएगा 
  3. नकरात्मक अंक 1/4 होगा यानी 4 प्रश्न गलत होने पर 1 अंक काटें जायेंगे 
  4. परीक्षा 2 घंटे के लिए आयोजित किया जाएगा
भाग विषय प्रश्नों की संख्या कुल अंक
भाग -1 1.फसल विज्ञान 25 25
-//- 2.जैव तकनीकी , पादप और क्रॉप फिजियोलॉजी 10 10
-//- 3.मृदा और जल प्रबंधन 15 15
-//- 3.कृषि प्रसार 05 05
-//- 4. कृषि अर्थशास्त्र और योजनाएं 05 05
-//- 4.पशुपालन और दुग्ध विज्ञान 05 05
भाग -2 कंप्यूटर एवं सूचना प्रौद्योगिकी की अवधारणाओं क्षेत्र में समसामयिक प्रौद्योगिकी विकास एवं नवाचार का ज्ञान 15 15
भाग -3 उत्तरप्रदेश राज्य से संबंधित सामान्य जानकारी 20 20
. योग 100 प्रश्न

100 अंक 

यूपीएसएसएससी कृषि तकनीकी सहायक परीक्षा पाठ्यक्रम भाग -1

1.फसल विज्ञान 

  • फसलों का वर्गीकरण, प्रदेश में उगाई जाने वाली प्रमुख खाद्यान्न, दलहनी, तिलहनी, मिलटेस, रेशेदार, नकदी फसलें मसाले एवं चारावाली फसलें, फल, फूल एवं सब्जी तथा प्रमुख फसलों की खेती की उत्पादन तकनीक एवं शस्य क्रियाएं 
  • फसल कटाई उपरांत उपज प्रबंधन
  • फल एवं सब्जी का संरक्षण एवं प्रोसेसिंग
  • फसल चक्र के सिद्धांत, फसल प्रणाली एवं खेती के प्रकार तथा शुष्क कृषि, एकीकृत फसल प्रणाली, बहू फसली , अतः फसली, प्राकृतिक खेती, जैविक खेती का महत्व एवं प्रकार ,सामाजिक एवं आर्थिक उपयोग ।
  • बीज का महत्व प्रकार एवं उत्पादन ।
  • बीज शोधन की विधियां एवं महत्व।
  • कृषि रक्षा के सामान्य सिद्धांत ,उद्देश्य एवं इसका महत्व एवं उनमें प्रयोग होने वाले मुख्य उपकरण वह रसायनों का नाम एकीकृत नाशीजीव प्रबंधन ।
  • प्रमुख फसलों के कीट एवं रोग तथा इसका प्रबंधन 
  • उपज भंडारण की विधियां सिद्धांत तथा भंडारण उपज की गुणवत्ता को प्रभावित करने वाले कारक तथा उनका प्रबंधन ।
 

2. जैव तकनीकी , पादप प्रजनन व क्रॉप फिजियोलॉजी 

  • जैव विज्ञान का कृषि में महत्व एवं उपयोग 
  • उपज भंडारण की विधियां ,सिद्धांत तथा भंडारण व उपज की गुणवत्ता को प्रभावित करने वाले कारक तथा उनका प्रबंधन।

3. मृदा एवं जल प्रबंधन 

  • मृदा के गुण, इसके अवयव, मृदा बनने की प्रक्रिया, मृदा अपरदन के प्रकार एवं इसकी रोकथाम के प्रभावी उपाय
  • मृदा में पाए जाने वाले आवश्यक पोषक तत्व, महत्व तथा कमी से होने वाले विकार ।
  • उर्वरकों का वर्गीकरण एवं पोषक तत्वों की मात्रा तथा उपयोग की विधियां।
  • एकीकृत पोषक तत्व प्रबंधन जैव उर्वरक / जैविक खादों के प्रकार , महत्व एवं लाभ ।
  • मृदा सूक्ष्म जीव विज्ञान तथा इनकी प्रमुख भूमिका। 
  • मृदा सर्वे सर्वेक्षण मृदा, नमूना लेने की विधि तथा मृदा संरक्षण तकनीक ।
  • सिंचाई के साधन विधियां तथा उनके लाभ
  • जल निकास की मूल अवधारणा एवं विधियां 
  • जल संचयन क्षेत्र प्रबंधन (वाटरशेड मैनेजमेंट) ।
  • प्रदूषण के प्रकार एवं पर्यावरण संरक्षण ।

खाद एवं उर्वरक क्विज हल करें 

पादप पोषक तत्व क्विज हल करें

Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Follow Now

मृदा विज्ञान के महत्वपूर्ण प्रश्न क्विज हल करें 

मृदा अपरदन और मृदा संरक्षण क्विज हल करें 

4. कृषि प्रसार 

  • कृषि प्रसार एवं ग्रामीण विकास के सिद्धान्त।
  • प्रसार विधि दृश्य एवं श्रव्य साधन उनका वर्गीकरण महत्व ।
  • प्रशिक्षण – लक्ष्य, महत्व एवं प्रकार।
  • भारत सरकार व प्रदेश सरकार द्वारा चलाई गई विभिन्न ग्रामीण विकास एवं किसानों के उत्थान के लिए योजनाएं ।

5. कृषि अर्थशास्त्र एवं योजनाएं

  • वन ट्रिलियन इकोनामिक हेतु उत्तर प्रदेश का कृषि कार्यों के माध्यम से योगदान। 
  • कृषि संबंधी आर्थिक सुधार।
  • कृषि जिंसों के आयात एवं निर्यात की अवधारणा।
  • कृषि की योजना निर्धारण ।
  • कृषि संख्याकी के सिद्धांत।
  • कृषि अर्थशास्त्र का सिद्धांत एवं उपयोगिता।
  • फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य।
  • कृषि विपणन।

6. पशुपालन एवं दुग्ध विज्ञान 

  • पशुपालन में काम आने वाली पशुओं की विभिन्न किस्में  पोषक प्रबंधन।
  • पशु प्रजनन उद्देश्य एवं विधियां।
  • दुग्ध उत्पादन एवं वितरण। 
  • कुक्कुट पालन एवं मत्स्य पालन ,मधुमक्खी पालन, रेशम कीट पालन ।
  • पशुओं की प्रमुख बीमार, लक्षण निदान ,एवं उपचार ।

भाग -2 

कंप्यूटर एवं सूचना प्रौद्योगिकी की अवधारणाओं एवं इस क्षेत्र में समसामयिक प्रौद्योगिकी विकास एवं नवाचार का ज्ञान 

  • कंप्यूटर, सूचना तकनीकी ,इंटरनेट एवं वर्ल्ड वाइड वेब का इतिहास, परिचय एवं अनुप्रयोग।
  • निम्नलिखित बिंदु संबंधित सामान्य ज्ञान
  1. हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेयर
  2. इनपुट एवं आउटपुट।
  3. इंटरनेट प्रोटोकॉल/ आईपी एड्रेस ।
  4. आईटी गैजेट एवं उनका अनुप्रयोग ।
  5. ई -मेल आईडी को बनाना एवं ईमेल का प्रयोग /संचालन
  6. प्रिंटर, टेबलेट, एवं मोबाइल संचालन।
  7. वर्ड प्रोसेसिंग एवं एक्सेल प्रोसेसिंग के महत्वपूर्ण तथ्य ।
  8. ऑपरेटिंग सिस्टम ,सोशल नेटवर्किंग,  ई – गवर्नेंस ।
  • डिजिटल वित्तीय उपकरण एवं अनुप्रयोग ।
  • भविष्य के कौशल और साइबर सुरक्षा ।
  • कंप्यूटर और सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में होने वाले तकनीकी विकास एवं नवाचार ( आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बिग डाटा प्रोसेसिंग, डीप लर्निंग, मशीन लर्निंग इंटरनेट ऑफ थिंग्स ) तथा इस क्षेत्र में भारत की उपलब्धियां आदि ।

भाग – 3 

उत्तर प्रदेश राज्य से संबंधित सामान्य जानकारी

प्रश्न पत्र के इस भाग से उम्मीदवारों से उत्तर प्रदेश का इतिहास ,संस्कृति कला, वास्तु कला ,त्यौहार ,लोक नृत्य ,साहित्य क्षेत्रीय भाषाएं, विरासत, सामाजिक रीति रिवाज और पर्यटन भौगोलिक प्रदर्शन एवं पर्यावरण प्राकृतिक संसाधन ,जलवायु मिट्टी, वन, वन्य जीव, खान एवं खनिज अर्थव्यवस्था कृषि उद्योग व्यवसाय और रोजगार राज्य व्यवस्था एवं प्रशासन तथा समाज सामाजिक घटनाओं एवं विभिन्न क्षेत्रों में उत्तर प्रदेश राज्य की उपलब्धियां आदि पर आधारित प्रश्न पूछे जाएंगे । 
 
व्हाट्सएप चैनल फॉलो करें
टेलीग्राम चैनल फॉलो करें
होम क्लिक करें

I Am Full Time Content Creator . Govt Jobs , Results and Admit Card .

Leave a Comment